लाल बंगला किस जनजाति से संबंधित है

Post a Comment

लाल बंगला भुंजिया जनजाति से संबंधित है। भुंजिया जनजाति ओडिशा और छत्तीसगढ़ में निवास करते है। वे ज्यादातर नुआपाड़ा जिले में पाए जाते हैं। भुंजिया लोगों को भारत की अनुसूचित जनजाति के रूप में सूचीबद्ध किया गया है। 

छत्तीसगढ़ और उड़ीसा में लगभग 22 हजार भुंजिया जनजाति के लोग रहते हैं। वर्तमान में, उड़ीसा की राज्य सरकार सामुदायिक विकास में लगभग 500 भुंजिया परिवारों के साथ काम कर रही है। उन परिवारों में साक्षरता दर लगभग 35% है।

भुंजिया को दो मुख्य वर्गों चिंदा भुंजिया और चोकुटिया भुंजिया में बांटा गया है। सभी इन दोनों वर्गों के लोगों को भुंजिया के नाम से ही जाना जाता हैं। कुछ गाँवों में वे मागी जातियों के साथ रहते हैं। इन जनजातियों की आजीविका कृषि है और उड़ीसा में कुछ लोग पशुपालन और मछली पकड़ने जैसे कार्य करते हैं। जबकि अन्य जलाऊ लकड़ी इकट्ठा करके बेचते हैं। लगभग सभी भुंजिया हिंदू हैं, हालांकि उनमें पारंपरिक जनजातीय धर्म के तत्व शामिल हैं।

चोकुटिया भुंजिया सुनाबेड़ा पठार तक ही सीमित हैं, वे बाहरी लोगों से दूरी बनाए रखते हैं। लेकिन चिंदा भुंजिया आम तौर पर मैदानी इलाकों में रहते हैं और आदिवासी और गैर-आदिवासी समुदायों के साथ निकट संपर्क रखते हैं। भुंजिया का धार्मिक जीवन बहुत सादा होता है। वे कई देवी-देवताओं में विश्वास करते हैं।

भुंजिया जनजाति के लोग भुंजिया भाषा बोते हैं जो इंडो-आर्यन भाषा से संबंधित हैं। इसे ओडिया, मराठी और छत्तीसगढ़ी का मिश्रण माना जाता है। हालांकि कुछ विद्वान भुंजिया को बस्तर के हलबास की एक शाखा मानते हैं। आपस में भुंजिया लोग दूसरे भाषा के बजाय अपनी ही भाषा बोलते हैं। दूसरी भाषा बोलना महिलाओं और बच्चों के लिए बहुत मुश्किल होता है।

Related Posts

Post a Comment