ताजमहल किसने बनवाया था - who built the taj mahal in hindi

Post Date : 03 May 2021

ताजमहल को भारत-इस्लामी वास्तुकला की सबसे बड़ी स्थापत्य उपलब्धि माना जाता है। इसकी मेहराब और गुंबद सौंदर्य को और बढ़ाते हैं। हरे-भरे मैदान और उसके ऊपर नीला आकाश लोगो को अपनी ओर आकर्षित करता है।

सबसे शानदार विशेषता संगमरमर का गुंबद है जो मकबरे के ऊपर है। गुंबद लगभग 35 मीटर ऊंचा है जो आधार की लंबाई के माप के करीब है। इसके आकार के कारण, गुंबद को अक्सर प्याज का गुंबद या अमरूद कहा जाता है। शीर्ष को कमल के डिजाइन से सजाया गया है जो इसकी ऊंचाई को बढ़ाने का काम भी करता है। 

ताजमहल किसने बनवाया था

ताजमहल को 1632 में मुगल सम्राट शाहजहाँ ने अपनी पत्नी मुमताज महल की याद में बनवाया था। इसमें शाहजहाँ का मकबरा भी है। ताजमहल भारतीय शहर आगरा में यमुना नदी के दक्षिणी किनारे पर स्थित सफेद संगमरमर का मकबरा है।

यह मकबरा 42-एकड़ के परिसर में फैला हुआ है। जिसमें एक मस्जिद और एक गेस्ट हाउस शामिल है और यहाँ  एक गार्डन में स्थापित किया गया है।

मकबरे का निर्माण 1643 में पूरा हुआ, लेकिन अन्य चरणों को पूरा करने में अगले 10 वर्षों तक का समय लगा। माना जाता है कि ताजमहल परिसर 1653 में लगभग 32 मिलियन रुपये की लागत से पूरी तरह से बनकर तैयार हुआ था, जो 2020 में लगभग 70 बिलियन के बराबर हैं। निर्माण सम्राट उस्ताद अहमद लाहौरी के नेतृत्व में 20,000 कारीगरों द्वारा किया हैं।