ads

सूक्ष्म जीव किसे कहते हैं - sukshma jeev

सूक्ष्मजीवों का वैज्ञानिक अध्ययन 1670 के दशक में एंटोन वैन लीउवेनहोक द्वारा माइक्रोस्कोप के अवलोकन के साथ शुरू हुआ था। 1880 के दशक में, रॉबर्ट कोच ने पाया कि सूक्ष्मजीव तपेदिक, हैजा, डिप्थीरिया और एंथ्रेक्स जैसी बीमारियां उत्पन्न करती हैं।

सूक्ष्म जीव किसे कहते हैं 

सूक्ष्म जीव एक ऐसा जीव है जो बहुत छोटे होते है। जिसे सामान्य आखों से देखा नहीं जा सकता हैं। इसे देखने के लिए सुक्ष्मदर्शी की आवस्यकता होती है। सूक्ष्म जीवों के अध्ययन करने वाले विज्ञान को microbiology कहते हैं। 

सूक्ष्मजीव बैक्टीरिया, कवक, आर्किया या प्रोटिस्ट हो सकते हैं। सूक्ष्मजीवों शब्द में वायरस और प्रियन शामिल नहीं होते हैं। जिन्हें आम तौर पर निर्जीव के रूप में वर्गीकृत किया जाता है।

सूक्ष्मजीव एककोशिकीय, बहुकोशिकीय समूहों के जीव होते हैं। सूक्ष्मजीव प्रकृति में व्यापक रूप मे पाए जाते हैं और जीवन के लिए फायदेमंद भी होते हैं। लेकिन कुछ गंभीर नुकसान पहुंचा सकते हैं। सूक्ष्मजीव को छह प्रमुख प्रकारों में विभाजित किया जा सकता है - 

  1. बैक्टीरिया
  2. आर्किया
  3. कवक
  4. प्रोटोजोआ
  5. शैवाल 
  6. वायरस

सूक्ष्मजीवों में वायरस और प्रिजन शामिल नहीं किये गए हैं, जिन्हें आमतौर पर गैर-जीवित जीव के रूप में वर्गीकृत किया जाता है। वर्तमान में जीवन के संगठन और वर्गीकरण के बारे में बहुत चर्चा हुई है, विशेष रूप से सूक्ष्मजीवों के अध्ययन में।

सूक्ष्म जीव किसे कहते हैं - sukshma jeev
सूक्ष्म जीव किसे कहते हैं

Subscribe Our Newsletter