ऑनलाइन शिक्षा के लाभ व हानि

ऑनलाइन शिक्षा दुनिया भर के शिक्षा क्षेत्र में एक प्रगति है। सीखने का यह तरीका इंटरनेट के माध्यम से किया जाता है। उन्नत तकनीकों के साथ, सीखने के इस तरीके को सरल बना दिया गया है। उच्च शिक्षण संस्थानों में भी ऑनलाइन शिक्षा को प्राथमिकता दी जाती है। यह लेख छात्रों को ऑनलाइन शिक्षा और ऑनलाइन शिक्षा के लाभ और हानि के बारे में बताएगा।

ऑनलाइन शिक्षा क्या है

शिक्षा लोगों के जीवन का एक अभिन्न अंग है। 1950 के दशक की तुलना में आज शिक्षा व्यापक रूप से विविध है क्योंकि शिक्षण विधियों में प्रगति और अन्य प्रमुख आविष्कार हुए हैं। जो अधिक स्पष्ट शिक्षण तकनीकों को लागू करते हैं।

ऑनलाइन शिक्षा के लाभ व हानि

ऑनलाइन शिक्षा में छात्र घर या किसी अन्य जगह से पढ़ते हैं, जो उनके लिए सबसे सुविधाजनक है। वे ऑनलाइन शिक्षण सामग्री प्राप्त कर सकते हैं। ऑनलाइन शिक्षा में अध्ययन सामग्री टेक्स्ट, ऑडियो, नोट्स, वीडियो और इमेज हो सकती है। हालाँकि, अध्ययन की पद्धति के अपने लाभ और विभिन्न कमियाँ भी हैं।

ऑनलाइन शिक्षा उन लोगों के लिए उपयुक्त है जो किसी न किसी कारण से पारंपरिक शिक्षा पद्धति को प्राप्त नहीं कर सकते हैं। वर्तमान में लगभग 6.1 मिलियन कॉलेज छात्र ऑनलाइन पाठ्यक्रमों में भाग ले रहे हैं, और यह संख्या लगभग 30 प्रतिशत सालाना बढ़ रही है।

ऑनलाइन शिक्षा में आप विश्व के किसी भी टीचर से पड़ सकते हैं। यह दूर दराज रहने वाले लोगो के लिए एक अच्छा ऑप्सशन हैं। अब आपको अच्छी गाइडलाइन और मटेरियल की कमी महसूस नहीं होगी।

इंटरनेट पर सभी प्रकार की बुक्स और क्लासेज मौदूद है बस आपको इंटरनेट और मोबाईल या लेपटॉप की आवस्यकता होती हैं। जो आज भारत में लगभग सभी जगह उपलब्ध हैं।

    ऑनलाइन शिक्षा के फायदे:

    1. शिक्षक के साथ नियमित संपर्क
    2. बेहतर फ्लेक्सिबिलिटी
    3. प्रभावी शिक्षा
    4. किसी भी समय पर शिक्षा

    1. शिक्षक के साथ नियमित संपर्क 

    ऑनलइन शिक्षा में आप कही भी टीचर के साथ जुड़ सकते है और शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं। पहाड़ी इलाको में बरसात के मौसम में भूस्खन से रास्ता बंद हो जाता हैं जिसके कारण स्टूडेंट स्कुल कोलाज नहीं जा पते। ऑनलाइन के माध्यम से यह समस्या दूर हो गयी हैं।

    2. बेहतर फ्लेक्सिबिलिटी

    ऑनलाइन शिक्षा आपको किसी भी समय शिक्षा का अवशर प्रदान करता हैं। स्टूडेंट के पास जितने टाइम समय मिले वह उसी समय वीडियो ऑडियो के माध्यम से शिक्षा प्राप्त कर सकता हैं। साथ ही वीडियो को सेव करके रख भी सकता हैं ताकि वह रिवीजन भी कर सके। ऑनलाइन शिक्षा में आपके पास कई विकल्प होते है शिक्षा प्राप्त करने के लिए। 

    3. प्रभावी शिक्षा 

    ऑनलाइन शिक्षण शिक्षकों को छात्रों को शिक्षा देने का एक प्रभावी तरीका प्रदान करता है। ऑनलाइन सीखने में वीडियो, पीडीएफ, पॉडकास्ट जैसे कई उपकरण हैं और शिक्षक इन सभी उपकरणों का उपयोग अपनी पाठ योजनाओं में कर सकते हैं। ऑनलाइन संसाधनों को शामिल करके पारंपरिक पाठ्यपुस्तकों का विस्तार किया जा सकता हैं।

    4. किसी भी समय पर शिक्षा

    ऑनलाइन शिक्षा में आपके पास समय की पांबदी नहीं रहती हैं आप जब चाहे ऑनलाइन पढ़ाई कर सकते हैं। आप कुछ भी सिख सकते है इंटरनेट में सभी जानकारी उपलब्ध होती हैं। जिसे आप पड़ना कहते हो। कई वेबसाइट है जो कोर्स उपलब्ध करते हैं। आप उसे ज्वाइन कर सकते हैं। ऑनलाइन शिक्षा के लिए कोई टाइम टेबल नहीं होता है। जबभी आपका मन करे उतने टाइम शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं। 

    ऑनलाइन शिक्षा के हानि:

    1. अच्छी इंटरनेट का होना अनिवार्य 
    2. ध्यान केंद्रित करने में असमर्थता
    3. ठीक से छात्रों को ना समझा पाना
    4. प्रतिस्पर्धा का माहौल ठीक से उतपन्न ना होना

    1. अच्छी इंटरनेट का होना अनिवार्य

    ऑनलाइन शिक्षा प्राप्त करने के लिए इंटरनेट का होना बहुत जरुरी होता है साथ में आपको कम्प्यूटर या मोबाइल की आवस्यकता होती हैं। इस प्रकार ऑनलाइन शिक्षा काफी महंगा हो जाता हैं। गांव और दूर दराज इलाको में इंटरनेट की कमी होती हैं जिसके कारण ऑनलइन शिक्षा प्राप्त नहीं किया जा सकता हैं।

    2 .ध्यान केंद्रित करने में असमर्थता

    कई छात्रों के लिए, ऑनलाइन सीखने की सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक लंबे समय तक स्क्रीन पर ध्यान केंद्रित करने का संघर्ष है। ऑनलाइन सीखने के साथ, छात्रों के लिए सोशल मीडिया या अन्य साइटों से आसानी से विचलित होने की अधिक संभावना है। इसलिए, शिक्षकों के लिए यह अनिवार्य है कि वे अपनी ऑनलाइन कक्षाओं को आकर्षक और इंटरैक्टिव बनाए रखें ताकि छात्रों को पाठ पर ध्यान केंद्रित करने में मदद मिल सके।

    3. ठीक से छात्रों को ना समझा पाना

    ऑनलाइन कक्षा में छात्रों और शिक्षकों के बीच कम से कम शारीरिक बातचीत होती है। इसके कारण शिक्षक को सही से समझा पाना अक्सर मुश्किल होता है। इस स्थिति में स्कूल छात्रों, साथियों और शिक्षकों के बीच संचार के अन्य रूपों से जुड़ना बहुत जरुरी हो जाता हैं। सामने बैठकर टीचर सभी स्टूडेंट पर नजर रख सकती है और टॉपिक को अच्छे से समझाने का प्रयास करती हैं।

    4. प्रतिस्पर्धा का माहौल ठीक से उत्पन्न न होना

    ऑनलाइन शिक्षा में यह भी समय उत्पन्न होती है विद्यार्थियों में प्रतिस्पर्धा बहुत कम हो जाती हैं। शिक्षक द्वारा पूछे गए सवाल को अक्षर विद्यार्थी उत्तर करने से बचने लगते हैं। जबकि स्कुल में ये समस्या नहीं आती हैं। हलाकि सभी विद्यार्थियों को टीचर के सभी सवालों का जवाब में भागीदारी रहना चाहिए। जिससे उनके मनोबल में उन्नति होगी। 

    ऑनलाइन शिक्षा का निष्कर्ष

    ऑनलाइन शिक्षा के संभावित लाभों में शैक्षिक पहुंच में वृद्धि शामिल है। यह एक उच्च गुणवत्ता के साथ सीखने का अवसर प्रदान करता है। छात्र परिणामों और कौशल में सुधार कर सकता है, और अपने पसंद के शैक्षिक विकल्पों को चुन सकता है। इसलिए, ऑनलाइन शिक्षा के कारण डिग्री पाठ्यक्रम या उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए स्थान, समय और गुणवत्ता को अब कारक नहीं माना जाता है।

    Search this blog