गुजरात की वेशभूषा क्या है - what is the costume of gujarat

गुजरात के संस्कृति का भारत सांस्कृतिक विकास में महत्वपूर्ण योगदान है। गुजरातियों की सादगी और मिलनसारिता ने उन्हें एक समृद्ध समुदाय बना दिया है। गुजरात राज्य एक जीवंत कला, संस्कृति और विरासत से परिपूर्ण है। यहाँ की वेश भूषा खास कर महिलाओं के ड्रेस टूरिस्टों को बहुत लुभाते हैं। गुजरात की विविधता यहाँ की विभिन्न जातीय समूहों का परिणाम है।

गुजरात की वेशभूषा क्या है

पुरुषों के लिए पारंपरिक गुजराती पोशाक में केदियु या कुर्ता और नीचे धोती या चोर्नो शामिल हैं। गुजरात में महिलाएं साड़ी या चनिया चोली पहनती हैं। हाल ही में, उन्होंने सलवार कमीज भी पहनना शुरू कर दिया है। गुजरात के पारंपरिक परिधानों के बारे में विस्तार से पढ़ें। 

गुजराती पुरुषों के पारंपरिक कपड़े

चोरनो एक प्रकार की सूती पैंट है जिसे गुजराती पुरुष पहनते हैं। यह सिली हुई धोती की तरह दिखती है और बहुत ढीली और आरामदायक होती है। चोर्नो के पास या तो कमर पर बाँधने के लिए एक डोरी होती है।

केदियु एक वस्त्र है, जो शरीर के शीर्ष भाग को ढकने के लिए चोरनो के ऊपर पहना जाता है। एक केडियू फ्रॉक टाइप कुर्ता है। जिसे गुजरात में पुरुषों द्वारा पहना जाता है। केदियु को अंगराखु भी कहा जाता है।

गुजरात की वेशभूषा क्या है - what is the costume of gujarat

धोती परिधान का एक लंबा कपड़े का टुकड़ा है, जिसे पुरुष शरीर के निचले भाग पर लपेट कर पहनते है। धोती को कमर के चारों ओर लपेटा जाता है और पैरों के बीच से बांधा जाता है। गुजराती पुरुष सामान्य परिधान के लिए सफेद या हल्के रंग की धोती पहनते हैं।

पुरुषों द्वारा सर को ढकने के लिए पगड़ी पहना जाता है। यह पोसक बहजुर्गों द्वारा अधिक पसंद किया जाता हैं। रोजमर्रा के उपयोग के लिए कुर्ते कपास से बने होते हैं। उत्सव के कुर्तों में कढ़ाई या कुछ डिज़ाइन होते हैं। इस तरह के कपड़े पहने लोग उत्सव मे अधिक देखे जाते हैं।

गुजराती महिलाओं के पारंपरिक कपड़े

घाघरा चोली - गुजरात की महिलाओं की पारंपरिक पोशाक चनिया चोली या घाघरा चोली है। महिलाएं इसके साथ ओढ़नी भी पहनती हैं।

चानियो या लहंगा महिलाओं द्वारा पहना जाने वाला एक रंगीन पेटीकोट या स्कर्ट जैसा परिधान है। चानियो को दर्पण और धागे के काम के साथ डिज़ाइन किया जाता है। महिलाएं सबसे ऊपर पोल्कू या चोली पहनती हैं। यह एक कशीदाकारी छोटा ब्लाउज होता है।

गुजरात की वेशभूषा क्या है - what is the costume of gujarat

पोशाक को पूरा करने के लिए चुन्नी या दुपट्टा कपड़े का एक लम्बा टुकड़ा होता है। जिसे तिरछा पहना जाता है इसे सिर को ढकने के लिए प्रयोग किया जाता है। महिलाएं इसके साथ झाबो, लहंगे, चोली और कुर्ता भी पहन सकती हैं।

साड़ी कपड़े का एक लंबा टुकड़ा है जो महिला के शरीर के चारों ओर लपेटा जाता है। और साड़ी की आखिरी छोर को सिर को ढकने के लिए उपयोग किया जाता हैं। सदी के साथ महिए ब्लाउज पहनती हैं जो साड़ी के साथ मैचिंग होता हैं।

Search this blog