ads

मस्तिष्क किसे कहते हैं - dimag kya hai

मस्तिष्क एक जटिल अंग होता है। जो विचार, स्मृति, भावना, स्पर्श, दृष्टि, श्वास, तापमान, भूख और हमारे शरीर को नियंत्रित करने वाली हर प्रक्रिया को नियंत्रित करता है।

स्तनधारियों में मस्तिष्क सिर के ऊपर होता है, जो कि खोपड़ी से कवर होता है। यह मस्तिष्क को सुरक्षा प्रदान करती है। कई जीवों में मस्तिष्क अन्य भाग पर हो सकते हैं।

मनुष्य का मस्तिष्क सभी जीवो में सबसे जटिल होता है। इसलिए मनुष्य इतना विकसित हो पाया है। नीचे मनुष्य के मस्तिष्क की संरचना का विस्तार से वर्णन किया गया है।

मस्तिष्क किसे कहते हैं - dimag kya hai
मस्तिष्क किसे कहते हैं 

मस्तिष्क की संरचना

औसतन वयस्क व्यक्तियों में मस्तिष्क का वजन लगभग 3 पाउंड होता है। इसमें लगभग 60 प्रतिशत वसा और शेष 40 प्रतिशत पानी, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और लवण होता है। 

मस्तिष्क मे मांसपेशी नहीं होती है। इसमें रक्त वाहिकाएं और तंत्रिकाएं होती हैं। जिनमें न्यूरॉन्स और ग्लियाल शामिल होते हैं।

मस्तिष्क के कितने भाग होते हैं

मस्तिष्क के सभी भाग एक साथ काम करते हैं, लेकिन प्रत्येक भाग के अपने विशेष गुण होते हैं। मस्तिष्क को तीन बुनियादी इकाइयों में विभाजित किया जा सकता है अग्रमस्तिष्क, मध्यमस्तिष्क और पश्च मस्तिष्क।

अग्रमस्तिष्क

अग्रमस्तिष्क को अंग्रेजी मे सेरेब्रम कहते हैं। सेरेब्रल को कॉर्टेक्स के रूप में भी जाना जाता है, सेरेब्रम मानव मस्तिष्क का सबसे बड़ा हिस्सा है। यह विचार और क्रिया जैसे उच्च मानसिक कार्य करता है। यह भाग शरीर के अन्य भागों में तंत्रिका कोशिकाओं के बीच संकेत लाने और ले जाने का कार्य भी करती हैं। यह स्तनधारियों में पाई जाने वाली एक छह-परत वाली संरचना होती है।

मध्यमस्तिष्क

अंग्रेजी मे इसे मिडब्रेन के नाम से जाना जाता है। यह अग्रमस्तिष्क के नीचे स्थित होता है। मध्यमस्तिष्क की प्राथमिक भूमिका हमारे देखने और सुनने वाली प्रणालियों के लिए एक स्टेशन के रूप में कार्य करना है। मध्यमस्तिष्क के कुछ हिस्से को रेड न्यूक्लियस भी कहा जाता है। 

थिएशिया मध्यमस्तिष्क का एक भाग है जो शरीर की गति को नियंत्रण मे रखता हैं, और इनमें बड़ी संख्या में डोपामाइन-उत्पादक न्यूरॉन्स होते हैं। मध्य मस्तिष्क मस्तिष्क का सबसे छोटा भाग होता है। और कपाल के भीतर सबसे अधिक केंद्र में स्थित होता है।

पश्च मस्तिष्क

इसे सेरिबैलम या छोटा मस्तिष्क भी कहा जाता हैं। यह दो भागों मे विभाजित होता है और एक अग्रमस्तिष्क के समान देखाई देती है। यह गति, संतुलन और हृदय, श्वसन जैसे कार्यों से जुड़ा होता है। यह लिम्बिक सिस्टम के नीचे स्थित होता है। यह सांस लेने, दिल की धड़कन और रक्तचाप जैसे महत्वपूर्ण कार्यों के लिए जिम्मेदार होते है।

मस्तिष्क के कार्य

मस्तिष्क का मुख्य कार्य शरीर को नियंत्रण करना और जानकारी भेजना होता है। यह सभी अंग को कार्य करने का आदेश देता है। कहा जाए तो मस्तिस्क शरीर का राजा होता है।

मस्तिष्क पूरे शरीर में रासायनिक और विद्युत संकेत भेजता और प्राप्त करता है। विभिन्न संकेत विभिन्न प्रक्रियाओं को नियंत्रित करते हैं। कुछ आपको थका हुआ महसूस कराते हैं, उदाहरण के लिए, जबकि अन्य आपको दर्द महसूस कराते हैं।

कुछ संदेश मस्तिष्क के भीतर स्टोर होते हैं, जबकि अन्य जानकारी रीढ़ और तंत्रिकाओं द्वारा शरीर के बाकी भागों मे भेजे जाते हैं। ऐसा करने के लिए मस्तिष्क को अरबों न्यूरॉन्स पर निर्भर होना पड़ता है।

मस्तिष्क के मुख्य भाग और उनके कार्य

ऊपर मस्तिष्क के तीन भागों के बारे मे बताया गया है। अब हम उसके कार्य के बारे मे जननेगे। 

अग्रमस्तिष्क के कार्य 

अग्रमस्तिष्क के केंद्र में सफेद पदार्थ होता है। यह मस्तिष्क का सबसे बड़ा हिस्सा भी होता हैं। अग्रमस्तिष्क गति, समन्वय और तापमान को नियंत्रित करता है। सेरेब्रम के अन्य क्षेत्र बोलना, निर्णय लेना, सोचना, तर्क लगाना, समस्या का समाधान करना, भावनाओं और सीखने को सक्षम बनाते हैं। अन्य कार्य दृष्टि, श्रवण, स्पर्श और अन्य इंद्रियों से संबंधित हैं।

अग्रमस्तिष्क को दो हिस्सों में विभाजित किया गया है। यह ग्यारी और सिलवटों से ढका होता है। दोनो हिस्सों के बीच एक खांचा होता हैं जो सिर के सामने से पीछे तक जाता है। दायां भाग शरीर के बाएं हिस्से को नियंत्रित करता है, और बायां भाग शरीर के दाहिने हिस्से को नियंत्रित करता है। दो हिस्सों में सफेद पदार्थ की एक बड़ी, सी-आकार की संरचना होती हैं जो कॉलोसम नामक तंत्रिका के माध्यम से एक दूसरे से जुड़े होते हैं।

मध्यमस्तिष्क के कार्य 

मध्यमस्तिष्क विभिन्न न्यूरॉन समूहों, तंत्रिका पथ और अन्य संरचनाओं की एक श्रृंखला की जटिल संरचना है। यह सुनने और चलने से लेकर प्रतिक्रियाओं और पर्यावरणीय परिवर्तनों की गणना करने जैसे कार्यों की सुविधा प्रदान करती हैं। मध्यमस्तिष्क में पर्याप्त नाइग्रा भी होता है।

अनुमस्तिष्क के कार्य 

जिसे छोटा मस्तिष्क भी कहा जाता हैं। मस्तिष्क का एक मुट्ठी के आकार का हिस्सा है जो सिर के पीछे, टेम्पोरल और ओसीसीपिटल लोब के नीचे स्थित होता है। अग्रमस्तिष्क की तरह, इसमें दो भाग होते हैं। बाहरी भाग में न्यूरॉन्स होते हैं, और आंतरिक क्षेत्र से अग्रमस्तिष्क के साथ संचार करता है। इसका कार्य स्वैच्छिक मांसपेशी का समन्वय करना और संतुलन बनाए रखना होता है। नए अध्ययन, विचार, भावनाओं और सामाजिक व्यवहार में अनुमस्तिष्क की महत्वपूर्ण भूमिका होती हैं।

Subscribe Our Newsletter