ads

खनिज आधारित उद्योग किसे कहते हैं

खनिज आधारित उद्योग खनिज पृथ्वी पर पाया जाने वाला महत्वपूर्ण संसाधन है, मानव के विकास में खनिज का योगदान महत्वपूर्ण है। जिन उद्योगों में कच्चे माल के रूप में खनिजों का उपयोग किया जाता है, वे खनिज आधारित उद्योगों के अंतर्गत आते हैं। इस श्रेणी के उद्योगों को दो वर्गों में रखा जाता है लौह प्रधान तथा अलौह उद्योग।

1. लौह धातु उद्योग - ये उद्योग ऐसी धातुओं पर आधारित होते हैं, जिनमें लोहांश होता है। लोहा तथा इस्पात उद्योग, रेल इंजन, भारी इंजीनियरिंग उद्योग आदि इसके उदाहरण हैं।

2. अलौह धातु उद्योग - ये उद्योग ऐसे खनिजों पर आधारित होते हैं, जिनमें लोहांश नहीं होता जैसे ताँबे व ऐल्यूमिनियम पर आधारित उद्योग ।

वास्तव में खनिज एवं उद्योग एक-दूसरे के पूरक हैं, क्योंकि खनिज पर आधारित उद्योगों के अंतर्गत ही आधारभूत उद्योग सम्मिलित हैं और बिना आधारभूत उद्योगों के किसी प्रकार के अन्य उद्योगों का विकास संभव नहीं है। खनिज आधारित उद्योगों में लौह-इस्पात उद्योग  के पश्चात् सीमेण्ट उद्योग का विशेष महत्व है। 

खनिज आधारित उद्योग किसे कहते हैं

Subscribe Our Newsletter