ads

भारत का भौगोलिक स्थिति क्या है - Geography of India in hindi

हमारा देश भारत विश्व के सबसे बड़े महाद्वीप एशिया के दक्षिण में स्थित विश्व का एक अत्यन्त महत्वपूर्ण एवं प्राचीनतम् देश है। यहाँ की संस्कृति विश्व की प्रसिद्ध एवं प्रचीनतम् संस्कृतियों में से एक है। इसकी सभ्यता का विकास उत्तरी भारत में सिन्धु नदी की घाटी में हुआ था।

भारत का भौगोलिक स्थिति क्या है - Geography of India in hindi

उत्तरी भारत में बहने वाली इस नदी को वैदिक आर्यों ने सिन्ध नदी के नाम से सम्बोधित किया गया हैं। सिन्धु नदी को ईरानियों ने हिन्दू नदी कहा इसलिए इस देश को हिन्दुस्तान भी कहा जाता हैं। बाद में रोम निवासियों ने इस नदी को इन्डस  तथा प्रचीन ग्रीक निवासियों ने इस नदी को इण्डोस  नदी के नाम से पुकारा।

समय के साथ-साथ यूरोपीय भाषाओं में इस देश को इण्डिया तथा पश्चिमी एशियाई भाषाओं में हिन्दुस्तान कहा जाने लगा। देश का नाम भारतवर्ष, महाभारत और पुराणों से राजा भरत के नाम से लिया गया हैं।

वर्तमान में, केवल भारत तथा इण्डिया शब्द ही अधिकृत रूप से प्रयोग किये जाते हैं। सामान्यतः हिन्दुस्तान शब्द प्रयोग बहुत कम किया जाता है। 

भारत का भौगोलिक स्थिति क्या है

भौगोलिक रूप में भारत का क्षेत्रफल 32,87,263 वर्ग किमी है, जो हिमालय की चोटियों से लेकर दक्षिण में कन्याकुमारी तक फैला हुआ है। विश्व के इस सातवें विशाल देश को पर्वत और समुद्र, शेष एशिया से अलग करते हैं, जिससे भारत का अपना स्वतंत्र भौगोलिक अस्तित्व है। 

भारत का क्षेत्र उत्तर में हिमालय पर्वत से लेकर दक्षिण में हिंद महासागर तक फैला हैं। वही पूर्व मे अरुणाचल प्रदेश से लेकर पश्चिम में द्वारिका गुजरात तक विस्तृत है। हमारा देश पूर्णतया उत्तरी गोलार्द्ध में स्थित है।

भारत का भौगोलिक स्थिति क्या है - Geography of India in hindi

भारत की भूमि 8°4' से 37°6' उत्तरी अंक्षाश एवं 68°7' से 97°25' पूर्वी देशांतर के बीच फैली हुई है। इसका विस्तार उत्तर से दक्षिण तक 3,214 किलोमीटर और पूर्व से पश्चिम तक 2,933 किलोमीटर है। 

भारत की सीमा 15,200 किमी की है तथा लक्षद्वीप और अण्डमान-निकोबार द्वीप के साथ भारत की समुद्र तट की कुल लम्बाई 7,516.6 किमी है। भारत का दक्षिण छोर अण्डमान-निकोबार द्वीप सीमा है। यह 6°30 उत्तरी अक्षांश पर स्थित है। इसे पहले पिगमैटीयन प्वाइंट कहते थे। वर्तमान नाम इन्दिरा प्वाइंट है।

इस प्रकार भारत लगभग 30° अक्षांशों में बटा हुआ है और कर्क रेखा भारत के लगभग मध्य भाग से गुजरता है। यह रेखा भारत दो जलवायु भागों में विभक्त करता है। कर्क रेखा का उत्तर भाग उपोष्ण कटिबन्ध तथा दक्षिण भाग उष्ण कटिबन्ध जलवायु में आता है।

उपोष्ण कटिबन्ध में सूर्यातप की प्राप्ति कम और उष्ण कटिबन्ध में अधिक होती है। विषुवत् वृत्त के निकट स्थित भारतीय प्रदेशों में दिन और रात्रि की अवधि में केवल 45 मिनट का अन्तर होता है, जबकि उत्तर सीमा पर यह अन्तर 5 घण्टे का होता है। 

इस देश का देशांतरीय विस्तार भी लगभग 30° का है, अतः देश के लगभग मध्य भाग से गुजरने वाली 82°30’ देशांतर रेखा का समय ही भारत का मानक समय निर्धारित किया गया है। 

भारत की वैश्विक स्थिति

भारत उत्तरी एवं पूर्वी गोलार्द्ध में एशिया महाद्वीप के दक्षिण में स्थित हैं। क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत विश्व का सातवाँ बड़ा देश है। सोवियत संघ, कनाडा, चीन, संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्राजील और आस्ट्रेलिया भारत से बड़े क्षेत्रफल वाले देश हैं। 

भारत का क्षेत्रफल विश्व के क्षेत्रफल का मात्र 2-3 प्रतिशत है, जबकि यहाँ विश्व की 16-87 प्रतिशत जनसंख्या निवास करती है। सन् 2001 की जनगणना के अनुसार भारत की जनसंख्या 102-7 करोड़ है। जनसंख्या की दृष्टि से चीन के बाद भारत विश्व का दूसरा बड़ा देश है। 

क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत इंग्लैण्ड से 12 गुना, जापान से 8 गुना बड़ा है। इस प्रकार भारत न तो बहुत बड़ा है और न ही बहुत छोटा हैं।

Subscribe Our Newsletter