संज्ञा और सर्वनाम की परिभाषा उदाहरण सहित

संज्ञा की परिभाषा - संज्ञा उस विकारी शब्द को कहते हैं जिससे किसी विशेष वस्तु, व्यक्ति या स्थान के नाम का बोध होता है । वस्तु का अर्थ व्यापक होता है। इसके अंतर्गत प्राणी, पदार्थ और धर्म आते हैं। उदाहरण - 1. हिमालय, 2. पर्वत, 3. नम्रता, 4. सोना, 5. चाँदी। 

सर्वनाम की परिभाषा - जो शब्द संज्ञा के स्थान पर प्रयोग में लाये जाते हैं, उन्हें सर्वनाम कहते हैं। जैसे - मैं, तुम, वह आदि। उदाहरण - 1. मैं, तू, वह, 2. यह, वह, 3. कोई, कुछ, 4. जो, सो, जैसा, वैसा, 5. कौन, क्या।

Subscribe Our Newsletter