एक अच्छी कर प्रणाली की विशेषताएँ - ek achi kar pranali ki visheshtayen

Post Date : 30 July 2022

 एक अच्छी कर प्रणाली की विशेषताएँ

एक अच्छी कर प्रणाली में निम्नलिखित विशेषताएँ होनी चाहिए- 

1. करारोपण के सिद्धान्तों के अनुरूप होनी चाहिए - प्रो. एडम स्मिथ ने करारोपण के चार सिद्धान्त बताए हैं। समानता, निश्चितता, सुविधा एवं मितव्ययिता । इसके अतिरिक्त अन्य सिद्धान्त हैं। विविधता, उत्पादकता एवं लोच एक अच्छी कर प्रणाली में इन सारे गुणों का समावेश होना चाहिए। 

2. अधिकतम सामाजिक लाभ - एक अच्छी कर प्रणाली ऐसी होनी चाहिए, जिससे अधिकतम सामाजिक लाभ की प्राप्ति हो सके। डॉल्टन के अनुसार, “सबसे अच्छी कर प्रणाली वही है, जो अधिकतम सामाजिक लाभ के सिद्धान्त पर आधारित हो और देश की आर्थिक स्थिति पर कोई प्रतिकूल प्रभाव न डाले।”

3. न्यायपूर्ण - कर प्रणाली न्यायपूर्ण होनी चाहिए अर्थात् करों का भार निर्धन व्यक्तियों पर कम और धनी व्यक्तियों पर अधिक पड़ना चाहिए। इसे ध्यान में रखते हुए कर प्रणाली प्रगतिशील होनी चाहिए, जिससे करों के भार का वितरण न्यायोचित हो। 

4. कर प्रणाली लोचपूर्ण हो - एक अच्छी कर प्रणाली लोचपूर्ण होनी चाहिए अर्थात् करों से प्राप्त होने वाली आय में आवश्यकतानुसार कमी या वृद्धि की जा सके। यदि कर प्रणाली लोचपूर्ण हो तो बिना अतिरिक्त व्यय किए सरकार बढ़ी हुई आय प्राप्त कर सकती है।

5. कर प्रणाली संतुलित हो - एक अच्छी कर प्रणाली में सभी प्रकार के करों का समावेश होना चाहिए अर्थात् सरकार को प्रत्यक्ष, अप्रत्यक्ष, प्रगतिशील एवं आनुपातिक करों सभी का अनुसरण करना चाहिए तथा इन करों में एक प्रकार का संतुलन स्थापित करना चाहिए।

6. मितव्ययी - एक अच्छी कर प्रणाली का मितव्ययी होना आवश्यक है। मितव्ययिता से अभिप्राय है कि करों को एकत्र करने पर खर्च कम से कम होना चाहिए तथा जनता द्वारा दिये गये करों का समुचित रूप में उपयोग किया जाना चाहिए।

7. सुविधाजनक - कर प्रणाली ऐसी हो कि उससे करदाताओं को जरा भी असुविधा न हो । करों की वसूली ऐसे समय की जाय जब उसका भुगतान करना करदाताओं के लिए सुविधाजनक हो ।

8. बहुकर प्रणाली - अर्थशास्त्रियों का विचार है कि कर प्रणाली का आधार विस्तृत होना चाहिए और उसे एकल कर प्रणाली पर आधारित न होकर बहुकर प्रणाली पर निर्भर होना चाहिए।

9. निश्चितता - एक अच्छी कर प्रणाली में निश्चितता के गुण भी होने चाहिए अर्थात् करों की मात्रा तथा उनके चुकाने के तरीके भी निश्चित होने चाहिए। कर प्रणाली तथ्यों तथा आँकड़ों पर आधारित होनी चाहिए। इसके साथ ही अनेक प्रकार के करों के संबंध में भी उचित जानकारी रहनी चाहिए।

10. पर्याप्तता – एक अच्छी कर प्रणाली में पर्याप्तता का गुण होना चाहिए। कर प्रणाली ऐसी होनी चाहिए कि वह सरकार के बढ़ते हुए व्यय की पूर्ति करने में सक्षम हो।