रिजर्व बैंक तथा व्यापारिक बैंक में अन्तर - rijarv baink tatha vyaapaarik baink mein antar

रिजर्व बैंक तथा व्यापारिक बैंक में अन्तर

रिजर्व बैंक तथा व्यापारिक बैंक में प्रमुख अन्तर निम्नांकित हैं -

रिजर्व बैंक व्यापारिक बैंक
देश में रिजर्व बैंक एक ही होता है। देश में अनेक व्यापारिक बैंक हो सकते हैं।
रिजर्व बैंक पर केन्द्र सरकार का नियंत्रण रहता है। व्यापारिक बैंक पर रिजर्व बैंक का नियंत्रण रहता है।
रिजर्व बैंक की स्थापना का उद्देश्य देश की अन्य बैंकों का नियमन एवं नियंत्रण करना है। व्यापारिक बैंकों की स्थापना का मुख्य उद्देश्य लाभ अर्जित करना है।
रिजर्व बैंक को नोट निर्गमन का एकाधिकार प्राप्त है। कोई भी व्यापारिक बैंक नोट निर्गमित नहीं कर सकता है।
रिजर्व बैंक पर केन्द्र सरकार का स्वामित्व होता है। व्यापारिक बैंक पर सरकार अथवा जनता का स्वामित्व होता है।
रिजर्व बैंक अपने पास जमा कराये गए धन पर ब्याज नहीं देता है। व्यापारिक बैंक अपने पास जमा कराये गए धन पर ब्याज देते हैं।
देश में समाशोधन गृहों की व्यवस्था का कार्य रिजर्व बैंक ही करता है। व्यापारिक बैंक समाशोधन गृह का कार्य नहीं करते।
रिजर्व बैंक का आम जनता से प्रत्यक्ष सम्बन्ध नहीं होता है। व्यापारिक बैंक का आम जनता से प्रत्यक्ष सम्बन्ध होता है।


Subscribe Our Newsletter