राष्ट्रीय सम्पत्ति एवं राष्ट्रीय पूँजी में प्रमुख अन्तर - rastiya sampatti or rastiya punji men antar

 राष्ट्रीय सम्पत्ति एवं राष्ट्रीय पूँजी में प्रमुख अन्तर 

राष्ट्रीय सम्पत्ति एवं राष्ट्रीय पूँजी में प्रमुख अन्तर निम्नांकित हैं -

राष्ट्रीय सम्पत्ति राष्ट्रीय पूँजी
एक दिये गये समय पर एक देश में सभी भौतिक वस्तुओं का योग उस राष्ट्र की सम्पत्ति कहलाती है। राष्ट्रीय पूँजी से अभिप्राय, उन वस्तुओं के स्टॉक से है। जिसमें व्यक्तिगत पूँजी तथा सार्वजनिक पूँजी सम्मिलित होती है।
राष्ट्रीय सम्पत्ति में मानव-निर्मित तथा प्रकृति द्वारा प्रदान निःशुल्क दोनों प्रकार की वस्तुओं को शामिल किया जाता है। राष्ट्रीय पूँजी में केवल मानव निर्मित वस्तुओं को शामिल किया जाता है।
राष्ट्रीय सम्पत्ति में पुनरुत्पादनीय तथा गैर-पुनरुत्पादनीय दोनों प्रकार की वस्तुएँ शामिल होती हैं। राष्ट्रीय पूँजी में केवल पुनरुत्पादनीय वस्तुएँ शामिल होती हैं।
राष्ट्रीय सम्पत्ति एक व्यापक अवधारणा है। राष्ट्रीय पूँजी अपेक्षाकृत एक संकुचित अवधारणा है।
राष्ट्रीय सम्पत्ति पर्याप्त मात्रा में होने पर भी देश के निवासी निर्धन हो सकते हैं। राष्ट्रीय पूँजी की मात्रा बढ़ने पर देश के निवासियों का जीवन स्तर बढ़ता है।
राष्ट्रीय सम्पत्ति सम्पूर्ण का योग होती है। राष्ट्रीय पूँजी, राष्ट्रीय सम्पत्ति का एक भाग होती है।
Subscribe Our Newsletter