गरीब परिवार की कहानी - garib pariwar ki kahani

कमलपुर गाँव में एक गरीब परिवार रहता था। मीना अपनी बहु प्रिया के साथ रहती थी और उसका बेटा शहर में काम करता था और वही रहता था। मीना के घर में दो गाय और एक भैस थे। 

गाय को ठीक से चारा न मिलने के कारण वे दूध नहीं देती थी। दोनों सास बहु को बहुत मुश्किल से अपने लिए और गाय भैस के लिए भोजन मिलता था। एक दिन डाकिया उनके घर एक चिट्ठी ले के आया था। प्रिया चिट्ठी लेकर अपनी सास के पास जाती है। 

प्रिया अपनी सास से बोलती है माँ जी डाकिया आया था और एक चिट्ठी दे के गए है। ये चिट्ठी किसी राकेश नाम के व्यक्ति का है। मीना बोलती है राकेश कोई और नहीं मेरा भाई है। और तुम्हारा मामा है। मीना प्रिया को चिट्ठी पड़ने बोलती है। 

प्रिया बताती है की मामा और उनके समधी यहाँ आने वाले है और उनकी खातिदारी में कोई कमी नहीं रहना चाहिए। राकेश की आने की खबर सुन कर दोनों सास बहु चिंतित हो जाते है। प्रिया बोलती है माँ जी हमारे घर में उनको खिलाने के लिए दाल चावल के अलावा कुछ भी नही है। 

मीना अपनी भैस को बेच कर मेहमानो की खातिरदारी करने का फैसला लेती है। लेकिन भैस को बड़े लाढ पियार से पालने की वजह से नहीं बेचते  है। मीना प्रिया से कहती है बहु जब मेहमान खाने के लिए बैठे तो तुम एक बर्तन गिराकर कुछ सब्जी का नाम बता देना दोनों ने जो सोचा था वैसे ही हो रहा था। 

जैसे ही राकेश और उसके समधी आये मीना राकेश को बहुत दिनों बाद देख कर बहुत खुश हो गई। प्रिया मेहमानो के लिए चाय और नास्ते के लिए मैगी लाती है। मेहमान चाय पी कर प्रिया की तारीफ करने लगे। 

मेहमान जब खाने के लिए बैठते है तो प्रिया एक बर्तन गिरा देती है। मीना बर्तन की आवाज सुनकर बोलती है क्या हुआ बहु प्रिया माँ जी मैंने जो चिकन बिरयानी बनाई थी वो गिर गया है। बहु फ्रिज में जो पनीर रखा हैं। उसे बना के ले आओ प्रिया कुछ देर बाद एक और बर्तन गिरा देती है। और बोलती है माँ जी पनीर भी गिर गया। 

मेहमान प्रिया की बाते सुन कर दाल चावल बनाने के लिए बोलते है। प्रिया दाल चावल बना लेती है लेकिन उसके हाथ से बर्तन छूट जाती है और दाल गिर जाती है। मीना आवाज लगाती है क्या हुआ बहु प्रिया बोलती है। माँ जी दाल ही गिर गया प्रिया की बाते सुनकर मीना किचन में आती है और प्रिया को डाटने लगती है। 

मेहमान उनकी बातो को सुन लेते है। जिसके कारण वो अपने साथ कुछ राशन का समान लाये थे जिसे राकेश अपनी दीदी को दे देता है। प्रिया और मिना राकेश को धन्यवाद बोलते हुए कहती है आज आपने हमारे घर की इज्जत रख ली। 

Related Posts

Subscribe Our Newsletter