कंचनजंघा कहा है?

कंचनजंगा दुनिया का तीसरा सबसे ऊंचा पर्वत है। इसकी कुल ऊंचाई 8,586 मीटर  है, कंचनजंगा हिमालय में स्थित है, जो पश्चिम में तमूर नदी, उत्तर में लाहोनक नदी और जोंगसांग ला और पूर्व में तीस्ता से घिरी है। यह नेपाल और भारत के मध्य स्थित  पर्वत हैं।

1852 तक कंचनजंगा को दुनिया का सबसे ऊंचा पर्वत माना जाता था। लेकिन 1849 में ग्रेट ट्रिगोनोमेट्रिकल सर्वे ऑफ इंडिया द्वारा गणना और माप से पता चला कि माउंट एवरेस्ट विश्व का सबसे ऊँचा पर्वत हैं। सभी गणनाओं के और सत्यापन के बाद, 1856 में आधिकारिक तौर पर घोषणा की गई कि कंचनजंगा तीसरा सबसे ऊंचा पर्वत है।

कंचनजंगा को सिक्किम राज्य के लोगों द्वारा एक पवित्र पर्वत माना जाता है। 2016 में पर्वत के निकट स्थित कंचनजंगा राष्ट्रीय उद्यान को यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर स्थल घोषित किया गया हैं।

कंचनजंगा का हिमखंड नेपाल और भारत दोनों देशो में स्थित है और इसमें 7,000 मीटर से अधिक 16 चोटियाँ शामिल हैं। कंचनजंगा माउंट एवरेस्ट से लगभग 125 किमी दक्षिण-पूर्व में स्थित है। कंचनजंगा के दक्षिणी भाग में सिंगलिला पर्वत है। जो सिक्किम और नेपाल को अलग करता है।

कंचनजंगा ब्रह्मपुत्र नदी बेसिन का सबसे ऊँचा स्रोत है, जो विश्व स्तर पर सबसे बड़ी नदी बेसिनों में से एक है। कंचनजंगा पर्वत में 8,000 मीटर से ऊंची छह चोटियां है।

Related Posts