बृहस्पति ग्रह के बारे में रोचक तथ्य - interesting facts about jupiter in hindi

बृहस्पति हमारे सौरमंडल में सूर्य से क्रम में पांचवां ग्रह है और हमारे सौर मंडल का सबसे बड़ा ग्रह भी है। यदि सभी ग्रह को मिला दे फिर भी बृहस्पति ग्रह से वह छोटा ही होगा। यह एक गैसीय ग्रह है अर्थात पृथ्वी की तरह यह जमीन नहीं है। जिस पर उतरा जा सके। इसलिए अधिकतर नासा इसके अध्ययन के लिए उपग्रह भेजता है। मंगल की तरह यहाँ रोवर नहीं भेजे जाते है। 

बृहस्पति ग्रह के बारे में रोचक तथ्य

बृहस्पति के 53 नामित उपग्रह हैं। लेकिन वैज्ञानिकों ने 26 और नए उपग्रह की खोजे कि हैं। अभी इन  26 चंद्रमाओं के आधिकारिक नाम नहीं हैं। वैज्ञानिक अब मानते हैं कि बृहस्पति के 79 चंद्रमा हैं। इन चंदमाओं की चंद्रमाओं की खोज 2017 में की गई थी। ग्रह के चार सबसे बड़े चंद्रमा गैनीमेड, कैलिस्टो, आयो और यूरोपा हैं।

बृहस्पति की धारियां और भंवर वास्तव में हाइड्रोजन और हीलियम के वातावरण में तैरते हुए अमोनिया और पानी के ठंडे, हवा वाले बादल हैं। बृहस्पति का प्रतिष्ठित ग्रेट रेड स्पॉट पृथ्वी से भी बड़ा एक विशाल तूफान है जो सैकड़ों वर्षों से सक्रीय है।

बृहस्पति दर्जनों चंद्रमाओं से घिरा हुआ है। बृहस्पति के भी कई वलय (रिंग) हैं, लेकिन शनि के प्रसिद्ध वलय के विपरीत, बृहस्पति के वलय बहुत फीके हैं और धूल से बने हैं।

संरचना और सतह

  • बृहस्पति हमारे सौरमंडल का सबसे बड़ा ग्रह है।
  • बृहस्पति एक विशालकाय गैसीय ग्रह है। यह ज्यादातर हाइड्रोजन और हीलियम से बना है।
  • बृहस्पति का वातावरण बहुत घना है।
  • बृहस्पति के छल्ले हैं, लेकिन वे बहुत काम दिखाई देते हैं।

43,440.7 मील की त्रिज्या के साथ, बृहस्पति पृथ्वी से 11 गुना चौड़ा है। यदि पृथ्वी एक निकल के आकार की होती, तो बृहस्पति एक बास्केटबॉल जितना बड़ा होता। इससे आप बृहस्पति की विशालता का अनुमान लगा सकते हैं। 

778 मिलियन किलोमीटर की औसत दूरी से बृहस्पति सूर्य की परिक्रमा करता है। इस ग्रह पर सूर्य के प्रकाश को पहुंचने में 43 मिनट का समय लगता है। जबकि पृथ्वी तक पहुंचने में महज 8 मिनट लगता है। 

सौरमंडल में बृहस्पति का दिन सबसे छोटा होता है। बृहस्पति पर एक दिन में केवल 10 घंटे का होता हैं, और बृहस्पति लगभग 12 वर्षों में सूर्य के चारों ओर एक पूर्ण चक्कर लगाता है। इसका भूमध्य रेखा सूर्य के चारों ओर अपने कक्षा में केवल 3 डिग्री झुका हुआ है। इसका मतलब है कि बृहस्पति लगभग सीधा घूमता है। 

तापमान 

बृहस्पति के बादलों में तापमान लगभग माइनस 145 डिग्री सेल्सियस होता है। ग्रह के केंद्र के पास का तापमान बहुत अधिक गर्म होता है। यहाँ का तापमान लगभग 24,000 डिग्री सेल्सियस हो सकता है। वह सूर्य की सतह से भी अधिक गर्म है। 

गुरुत्वाकर्षण 

यदि कोई व्यक्ति बृहस्पति के वायुमंडल के बादलों पर खड़ा हो सकता है, तो वह महसूस करेगा कि वहाँ का गुरुत्वाकर्षण बल पृथ्वी की गुरुत्वाकर्षण बल से लगभग 2.4 गुना अधिक हैं। पृथ्वी पर 100 पाउंड वजन वाले व्यक्ति का वजन बृहस्पति पर लगभग 240 पाउंड होगा।

बृहस्पति के पास अत्यंत शक्तिशाली चुंबकीय क्षेत्र है। बृहस्पति के बादलों के नीचे तरल धात्विक हाइड्रोजन का एक विशाल महासागर है। पृथ्वी पर, हाइड्रोजन आमतौर पर गैस है। लेकिन बृहस्पति पर उसके वायुमंडल के अंदर इतना दबाव होता है कि गैस तरल हो जाती है। यह तरल धातु ग्रह को सौर मंडल का सबसे मजबूत चुंबकीय क्षेत्र बनाता है। बृहस्पति का चुंबकीय क्षेत्र पृथ्वी की चुंबकीय क्षेत्र से 20 गुना अधिक मजबूत है।

अनुसंधान 

अभी तक नौ अंतरिक्ष यान ने बृहस्पति का करीब से अध्ययन किया है। नासा का जूनो अंतरिक्ष यान इस समय बृहस्पति के कक्षा का अध्ययन कर रहा है। जुलाई 2016 में बृहस्पति पर पहुंचा जूनो अंतरिक्ष यान इस ग्रह के रहस्यमय बादलों से ढके इंटीरियर का अध्ययन करने वाला पहला अंतरिक्ष यान है। 

बृहस्पति पर नियमित रूप से जांच करने के लिए वैज्ञानिक पृथ्वी की परिक्रमा करने वाले हबल स्पेस टेलीस्कोप और ग्राउंड-आधारित टेलीस्कोप का भी उपयोग करते हैं।

interesting facts about jupiter in hindi -  बृहस्पति ग्रह

बृहस्पति ग्रह के बारे में रोचक तथ्य

1. बृहस्पति के चार सबसे बड़े चंद्रमा (उपग्रह) आयो, यूरोपा, गेनीमेड और कैलिस्टो हैं।

2. बृहस्पति हमारे सौर मंडल का सबसे बड़ा ग्रह है जो पृथ्वी के आकार का लगभग 11 गुना और द्रव्यमान का 317 गुना है।

3. बृहस्पति, सबसे बड़ा ग्रह होने के कारण, इसका नाम प्राचीन रोमन देवताओं के राजा के नाम पर पड़ा हैं।

4. अपने बड़े आकार के बावजूद, बृहस्पति का एक दिन किसी भी अन्य ग्रह से सबसे छोटा है; एक पूर्ण घूर्णन के लिए इसे केवल 10 घंटे लगते हैं।

5. सूर्य की तरह, बृहस्पति भी ज्यादातर हाइड्रोजन और हीलियम से बना है। बृहस्पति में सौर मंडल का सबसे बड़ा महासागर, तरल हाइड्रोजन का महासागर है।

Search this blog