रिकार्डो के लगान सिद्धांत की आलोचनाएँ - ricardo ke lagan siddhant ki alochana

रिकार्डो के लगान सिद्धांत की आलोचनाएँ 

लगान सिद्धांत की प्रमुख आलोचनाएँ निम्नांकित हैं -

1. भूमि में कोई मौलिक एवं अविनाशी शक्तियाँ नहीं पायी जाती हैं - रिकार्डो की मान्यता थी कि लगान भूमि की मौलिक एवं अविनाशी शक्तियों के कारण प्राप्त होता है। लेकिन आलोचकों के अनुसार भूमि में कोई मौलिक एवं अविनाशी शक्तियाँ नहीं पायी जाती हैं। 

आज के अणु एवं परमाणु बम के युग में भूमि के उपजाऊपन को अविनाशी कहना गलत है। साथ ही साथ भूमि का उपजाऊपन रासायनिक खादों एवं कम्पोस्ट खाद का उपयोग करके प्राप्त किया जाता है और बढ़ाया जाता है, अतः भूमि का उपजाऊपन मौलिक एवं अविनाशी नहीं होता है।

2. भूमि को जोतने का क्रम सही नहीं है - रिकार्डो का विचार है कि लोग सर्वप्रथम उपजाऊ भूमि पर खेती करते हैं। इसके बाद इससे कम उपजाऊ भूमि पर खेती की जाती है, लेकिन आलोचकों ने इसे ऐतिहासिक दृष्टि से गलत बताया है। निःसंदेह, लोग उस भूमि में पहले खेती करते हैं, जो सुविधाजनक स्थिति में तथा बाजार व शहर के निकट होती है। 

3. अवास्तविक मान्याताओं पर आधारित - आलोचकों के अनुसार, रिकार्डो का लगान सिद्धांत पूर्ण प्रतियोगिता एवं दीर्घकाल जैसी अवास्तविक मान्यताओं पर आधारित है। वास्तव में, भूमिपति एवं किसानों के बीच पूर्ण प्रतियोगिता नहीं पायी जाती है। साथ ही दीर्घकाल में हमारी कोई समस्या नहीं होती, क्योंकि दीर्घकाल में हम सब मर जाते हैं। इस प्रकार रिकार्डो का लगान सिद्धांत अल्पकाल की व्याख्या नहीं करता है।

4. कोई भूमि लगान रहित नहीं होती - रिकार्डो ने सीमांत भूमि को लगान रहित भूमि माना है, लेकिन आलोचकों का कहना है कि व्यावहारिक जगत में कोई भी भूमि लगान रहित नहीं होती है।

5. लगान केवल भूमि को ही प्राप्त नहीं होता - रिकार्डो के अनुसार लगान केवल भूमि को ही प्राप्त होता है, उत्पत्ति के किसी अन्य साधन को नहीं, लेकिन आलोचकों का कहना है कि आधुनिक युग में लगान उत्पत्ति के सभी साधनों को समान रूप से प्राप्त होता है।

6. भूमि की सीमितता ही लगान उत्पन्न होने का मूल कारण है - रिकार्डो के अनुसार, लगान उत्पन्न होने का प्रमुख कारण भूमि के उपजाऊपन में भिन्नता होना है, लेकिन आधुनिक अर्थशास्त्रियों के अनुसार, लगान उत्पन्न होने का प्रमुख कारण भूमि की पूर्ति का इसकी माँग की तुलना में सीमित होना है, अतः अनाज के लिए भूमि की माँग बढ़ जाती है, और भूमिपति को लगान प्राप्त होता है।

7. लगान मूल्य को प्रभावित करता है – रिकार्डो का विचार था कि लगान कीमत को प्रभावित नहीं करता, बल्कि कीमत लगान को प्रभावित करती है, जबकि आलोचकों का विचार है कि लगान उत्पादन लागत का एक भाग होता है, अत यह अनाज के मूल्य को प्रभावित करता है।

8. भूमि की उत्पादकता को अलग से ज्ञात नहीं किया जा सकता - रिकार्डो के अनुसार, भूमि की उत्पादकता को ज्ञात किया जा सकता है, लेकिन आलोचकों का कहना है कि भूमि से प्राप्त उत्पादन, भूमि का उपजाऊपन, खेती में लगायी गयी पूँजी तथा श्रम सभी का संयुक्त परिणाम होता है। ऐसी स्थिति में भूमि की उत्पादकता को अलग से ज्ञात नहीं किया जा सकता।

Subscribe Our Newsletter